राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना

राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना
(National Family Benefit Scheme) भारत सरकार द्वारा चलाई जाने वाली
एक सरकारी योजना है जो किसी परिवार के मुख्य कमाने वाले व्यक्ति की मृत्यु के बाद उनके परिवार को आर्थिक
सहायता प्रदान करने का उद्देश्य रखती है। यह योजना अधिकतर गरीब परिवारों को लाभ पहुंचाने के लिए डिज़ाइन की
गई है। यहां पर इस योजना की पूरी जानकारी है:
 
1.योजना का उद्देश्य:**

इस योजना का मुख्य उद्देश्य गरीब और दिव्यांग परिवारों को मृत्यु के बाद आर्थिक सहायता प्रदान करना हैताकि वे
अपनी आर्थिक स्थिति में सुधार कर सकें।
 
Official site LinkClick Here
New Registration LinkClick Here


2. पात्रता:

इस योजना के लिए पात्रता मानदंड निम्नलिखित
हैं:
योजना के लाभार्थी का आय  संकटकालीन राशि से कम होना चाहिए।
योजना के लाभार्थी का आय वार्षिक आय रेंज के
अंदर होना चाहिए
, जैसे कि यहां तक कि राज्य सरकार की निर्धारित
आय सीमा के भीतर।
मृत्यु होने पर लाभार्थी के परिवार में दो या
दो से अधिक बच्चे होना चाहिए।

यदि मृत्यु होती है, तो
यह योजना केवल मृतक के परिवार के पुरुष सदस्यों के लिए होती है।

 
3. लाभ:

योजना के तहत लाभार्थी के परिवार को मृत्यु
होने पर एक दी जाती है
, जिसकी वार्षिक राशि केंद्र सरकार द्वारा तय की
जाती है।
लाभार्थी के परिवार के योग्य पुरुष सदस्य को यह
राशि दी जाती है।

 
4. आवश्यक
दस्तावेज़:**

मृत्यु प्रमाण पत्र (जैसे कि डॉक्टर का प्रमाण
पत्र)

आय प्रमाण पत्र (जैसे कि आयकर आवेदन की प्रतिलिपि)
आवेदन पत्र
 
**5. आवेदन
प्रक्रिया:**


आवेदन पत्र जिला स्तरीय पश्चिमी समुदाय केन्द्र
(
CSC) या जिला पंचायत के पास जमा करना होता है।
यदि आवेदन स्वीकृत होता है, तो
लाभार्थी के बैंक खाते में राशि स्वीकृत होती है।
 
इस प्रकार, राष्ट्रीय
पारिवारिक लाभ योजना गरीब परिवारों को मृत्यु के समय आर्थिक सहायता प्रदान करने का
प्रयास
करती है। यह योजना भारत सरकार द्वारा संचालित होती है

राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना के बारे में और
अधिक जानकारी:
 
6. आवश्यक शर्तें और निर्देश:**
योजना के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए मृत्यु
होने के बाद
45
वर्ष से कम और
60
वर्ष से अधिक नहीं होने चाहिए।
यह योजना विवाह द्वारा फिर से शादी करने वाले
पुरुष को प्राप्त नहीं होती है।
यदि योजना के तहत लाभार्थी की मृत्यु हो जाती
है
, तो
उसके योग्य परिवार के अन्य सदस्यों को इस योजना का लाभ नहीं मिलता है।
 
**7. योजना के लाभ की राशि:**

योजना के तहत लाभार्थी के परिवार को एक निश्चित
राशि प्राप्त होती है
, जो केंद्र सरकार द्वारा निर्धारित की जाती है। इस राशि का
आकलन अपने
प्राथमिक ग्राम पंचायत केन्द्र (जिसमें परिवार के लोग निवास करते हैं) के
अधिकारियों द्वारा किया जाता है।
 
8. समय सीमा:**

योजना के तहत लाभार्थी के परिवार को मृत्यु के
बाद
2
साल के अंदर आवेदन करना होता है।
 
9. योजना का प्रमुख लक्ष्य:**
राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना का प्रमुख उद्देश्य
गरीब परिवारों को लाभ पहुंचाना है
, ताकि वे मृत्यु के बाद भी आर्थिक रूप से स्थिति में सुधार कर सकें।
यह योजना उन परिवारों के लिए है जो आर्थिक रूप से कमजोर होते हैं और मृत्यु के बाद
आर्थिक सहायता की आवश्यकता होती है।
 
10.
संचालन:**

राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना का प्रबंधन
केंद्र सरकार द्वारा किया जाता है और यह राज्य सरकार के अधीन आता है। योजना
की समय
समय पर अद्यतनित जानकारी और निर्देश भी सरकार द्वारा जारी की जाती हैं।
 
यह योजना भारत सरकार द्वारा गरीब परिवारों के
लिए सोशल सुरक्षा का हिस्सा है और मृत्यु के बाद उनके परिवारों को आर्थिक
सहायता
प्रदान करने का प्रयास करती है। योजना के तहत लाभ पाने के लिए आवश्यक शर्तों और
निर्देशों का पालन करना
महत्वपूर्ण है।
राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना के लिए आवश्यक
दस्तावेज़ और उनकी पूरी जानकारी निम्नलिखित है:
 
मृत्यु प्रमाण पत्र (Death
Certificate):** 

यह प्रमाण पत्र मृत्यु के समय प्राप्त किया
जाता है और इसमें मृतक की मृत्यु की जानकारी शामिल होती है। यह प्रमाण पत्र
स्थानीय
स्वास्थ्य अथॉरिटी या नगर पालिका द्वारा जारी किया जाता है।
 
आय प्रमाण पत्र (Income
Certificate): 
यह प्रमाण पत्र आवेदक के परिवार की आर्थिक
स्थिति को प्रमाणित करने के लिए आवश्यक होता है। इसमें आवेदक के परिवार 
के सदस्यों
की मासिक या वार्षिक आय की जानकारी शामिल होती है।
 
आवेदन पत्र (Application Form): Online करने के लिये क्लिक करे   --: Click Here 

योजना के लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक को
आवेदन पत्र भरकर जमा करना होता है। इसमें आवेदक के व्यक्तिगत
जानकारी, परिवार की
जानकारी
, और
अन्य आवश्यक जानकारी शामिल होती है।
 
फोटोग्राफ (Photograph): 
आवेदन पत्र के साथ आवेदक की फोटोग्राफ भरकर जमा
करनी होती है।
 
बैंक खाता जानकारी (Bank
Account Details): 
लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक का बैंक खाता
होना आवश्यक होता है। यह खाता आवेदक की आर्थिक सहायता राशि के प्राप्त
करने के लिए
उपयोग होता है।
 
आधार कार्ड (Aadhaar Card): 

आधार कार्ड आवेदक की पहचान के रूप में आवश्यक
होता है और यह प्रमाणित करने में मदद करता है कि आवेदक वास्तविक
आवेदक हैं।
 
**अन्य दस्तावेज़ (Other
Documents):
कुछ राज्यों में योजना के लिए और अतिरिक्त
दस्तावेज़ भी आवश्यक हो सकते हैं
, जैसे कि जाति प्रमाण पत्र, निवास प्रमाण पत्र,
आदि।
 
सभी आवश्यक दस्तावेज़ को सही तरीके से भरकर और
प्राधिकृत स्तर पर जमा करना आवश्यक होता है। आवेदन प्रक्रिया के
दौरान आवेदक को
स्थानीय सरकार के अधिकारियों के निर्देशों का भी पालन करना होता है। यदि आपके पास
किसी विशेष
राज्य की योजना के लिए अतिरिक्त आवश्यक दस्तावेज़ की आवश्यकता है, तो आपको स्थानीय
अधिकारियों से संपर्क करना
चाहिए।